एक तुम ही न मिल सके वरना मिलने वाले तो बिछड़-बिछड़ कर भी मिलते है।
 - Best Shayari

एक तुम ही न मिल सके वरना मिलने वाले तो बिछड़-बिछड़ कर भी मिलते है।

Best Shayari