मीठी-मीठी यादों को दिल में सजा लेना, साथ गुजारे पल को पलकों में बसा लेना, दिल को फिर भी न मिले सुकून तो, मुस्कुरा के मुझे अपने सपनों में बुला लेना ।

अपने लिए नहीं तो उन लोगों के लिए कामयाब बनो, जो आपको नाकामयाब देखना चाहते हैं !

अपनी शख्सियत ऐसी बनाओ की तुम्हे हराने के लिए कोशिश नही, साजिश करनी पड़े !

मिलने आएंगे हम आपसे ख़्वाबों में ज़रा रोशनी के दिए बुझा दीजिए अब और नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाक़ात का ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए

हर सपना कुछ पाने से पूरा नहीं होता, कोई किसी के बिन अधूरा नहीं होता, जो चाँद रौशन करता है रात भर सब को, किसी रात वो भी तो पूरा नहीं होता।

इस गहरी रात में उनकी याद का झोंका फिर आ गया, हैं खुशनसीब हम बहुत कि ख़्वाबों में उनसे मिलने का मौका फिर आ गया।

आपसे कभी हम खफ़ा हो नहीं सकते, वादा किया है तो बेवफा हो नहीं सकते, आप भले ही हमें भुलाकर सो जाओ, मगर हम आपको याद किये बिना सो नहीं सकते।

चाँदनी बिखर गयी है सारी, रब से ये दुआ है हमारी, जितनी प्यारी है तारों की रौशनी, आपकी नींद भी हो इतनी प्यारी |

दिल में मेरे रहते हो तुम ख़्वावों में भी आते रहना, हंसते हुए दिन बीते आपका नींद में भी मुस्कुराते रहना !

रात का चाँद आसमान में निकल आया है, साथ में तारों की बारात लाया है, ज़रा आसमान की ओर देखो वो आपको, मेरी और से Good Night कहने आया है।

हमेशा ऐसे शख्स को चुना करो जो आपको इज्ज़त दे, क्योकि इज्ज़त मोहब्बत से कही जादा ख़ास होती है।

ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है, कोई मीठी सपनो मे खोने जा रहा है, धीमी कर दे अपनी रोशनी ऐ चाँद, मेरा कोई अपना सोने जा रहा हैं.

मिठी रातो में धीरे से आ जाती है एक परी, कुछ ख़ुशी के सपने लाती है एक परी, कहती है के सपनों के सागर में डुब जाओ, भूल के सारे दर्द जल्दी सो जाओ।

हर रास्ता एक सफर चाहता है, हर मुसाफिर एक हमसफ़र चाहता है, जैसे चाहती है चांदनी चाँद को, कोई है जो आपको इस कदर चाहता है।

चाँद को भेजा है पहरेदार तारों को सौंपा है निगरानी का काम, रात ने जारी किया है ये फरमान कि सारे मीठे सपने हों आपके नाम।

मोमबत्तिया नहीं जलती लाइट के बिना,चाँद नहीं चमकता है नाईट के बिना,तो हम कैसे सो सकते है,आपको गुड नाईट कहे बिना।

आप हमारे सबसे अच्छे दोस्त हैं, यह दिल से कहते हैं हम, इसलिए आपको रोज़ याद करते हैं हम, बाकी कुछ कहें या ना कहें, रात को शुभ रात्रि कहते हैं हम।

कितनी जल्दी से मुलाक़ात गुजर जाती है, प्यास बुझती नहीं बरसात गुजर जाती है, अपनी यादों से कहो की यूँ ना सताया करे, नींद आती नहीं और रात गुजर जाती है।

जब भी आपके बिना रात होती हैं, तब दीवारों से अक्सर बात होती हैं, सन्नाटा पूछता हैं हमारा हाल हमसे, तो आपके नाम से ही शुरुआत होती हैं।

हर रात मैं भी आपके पास उजाला हो, हर कोई आपका चाहने वाला हो, वक़्त गुजर जाये उनकी यादो के सहारे, हो ऐसा कोई आप के सपनो को सजाने वाला हो।

रात को चाँद निकल आया है, संग अपने तारों की बारात लाया है, प्यार से देखो आसमान को,वो मेरी ओर से आपको गुड नाईट कहने आये है।

मुझे सुलाने के खातिर जब रात आती है, हम सो नही पाते रात खुद सो जाती है, पूछने पे दिल से ये आवाज़ आती है, आज दोस्त को याद कर ले रात तो रोज आती है।

मुझे रुला कर सोना, तो तेरी आदत बन गई है, जिस दिन मेरी आँख ना खुली, तुझे निंद से नफरत हो जायेगी।

रात का चाँद तुम्हें सलाम करे, परियों की आवाज़ तुम्हें आदाब करे, सारी दुनिया को खुश रखने वाला वो रब, हर पल तुम्हारी खुशियों का ख्याल करे.।

देखो फिर रात आ गयी, गुड नाइट कहने की बात याद आ गयी, हम बैठे थे सितारो की पनाह में, चाँद को देखा तो आप की याद आ गयी

दुआ है कि आपकी रात की अच्छी शुरुआत हो, प्यार भरे मीठे सपनो की बरसात हो, जिनको ढूंढ़ती रहीं दिन-भर आपकी आँखें, रब करे सपनों में उनसे मुलाक़ात हो।

चाँद की चांदनी में एक पालकी बनाई है, और ये पालकी हमने बड़े प्यार से सजाई है, दुआ है ए हवा तुझसे, ज़रा धीरे चलना, मेरे यार को बड़ी प्यारी नींद आई है।

आंखे कितनी भी छोटी क्यो ना हो, ताकत तो उसमे सारा आसमान देखने की होती है, तो इन आखो को थोडा आराम देने का वक़्त आ गया है !

ये रात चाँदनी बनकर आपके आँगन में आये, ये तारे सारे लोरी गा कर आप को सुलायें, हो इतने प्यारे सपने आपके, कि नींद में भी आप मुस्कुराएं।

ए पलक तु बन्द हो जा, ख़्वाबों में उसकी सूरत तो नजर आयेगी, इन्तजार तो सुबह दुबारा शुरू होगा, कम से कम रात तो खुशी से कट जायेगी।

काम करो ऐसे की पहचान बन जाए, चलो ऐसे की निशान बन जाए,, अगर दम है तो, जियो ऐसे की मिसाल बन जाओ !

फूल खिलते रहे ज़िंदगी की राह में, हँसी चमकती रहे आपकी निगाह में, कदम-कदम पे मिले ख़ुशी की बहार आपको, यही दिल देता है दुआ बार-बार आपको।

हो चुकी रात अब सो भी जाइए जो हैं दिल के करीब उनके ख्यालों में खो जाइए कर रहा होगा कोई इंतज़ार आपका ख़्वाबों में ही सही उनसे मिल तो आइये।

पलकों में कैद कुछ सपने हैं, कुछ बैगाने और कुछ अपने हैं ना जाने क्या कशिश है इन ख्यालों में, कुछ लोग हमसे दूर होकर भी कितने अपने हैं।

हमें हर संबंध को, समय देना चाहिए क्योंकि क्या पता कल हमारे पास समय हो पर संबंध ना हो!

ख़ुशी से बीते हर शाम आपकी, हर सुहानी हो रात आपकी, यही आरज़ू है हमारी कि, जिस किसी चीज़ पर भी पड़े नज़र आपकी, अगले ही पल वो हो जाये आपकी।

चाँद ने कर लिया है तारों को इन्वाइट , सूरज ने पकड़ ली है सुबह की फ्लाइट। भगवान को याद करके बंद करदो लाइट, मेरी तरफ से आपको प्यारा सा गुड नाईट

आँसू आ जाते है रोने से पहले, ख्वाब टूट जाते है सोने से पहले, लोग कहते है मोहब्बत गुनाह है, काश कोई रोक लेते यह गुनाह होने से पहले।

मिलने आयेंगे हम आपसे ख्वाबों में, ये ज़रा रौशनी के दीये बुझा दीजिए, अब नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाकात का, ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए ।

अब ना सूरज, ना सितारे, ना शमा, ना चाँद, अपने जख्मों का उजाला है घनी रातों में, तुम से सदियों की वफाओं का कोई नाता ना था, तुम से मिलने की लकीरें थी मेरे हाथों में।

सितारों से भरी इस रात में , जन्नत से भी खूबसूरत ख्वाब आपको आयें, इतनी हसीन हो जिन्दगी आपकी मांगने से पहले ही आपकी मुराद पूरी हो जाये।

अमीर के जीवन मे जो महत्व “सोने” की “चैन” का होता है, गरीब के जीवन मे वही महत्व “चैन” से “सोने” का होता है।

ख्वाब और हकीकत में सिर्फ इतना फर्क है, ख्वाब टूट जाते हैं, हकीकत तोड़ देती है.

हम आपको कभी खोने नहीं देंगे जुदा होना चाहो तो भी होने नहीं देंगे चांदनी रातों में जब आएगी मेरी याद मेरी याद के वो पल आपको सोने नहीं देंगे.

ज़िन्दगी में कामयाबी की मंज़िल के लिए ख्वाब ज़रूरी है और ख्वाब देखने के लिए नींद ज़रूरी है !

जिंदगी छोटी नहीं होती बस ख्वाहिश बढ़ जाती है!

दिल की किताब में गुलाब उनका था, रात की नींद में ख्वाब उनका था, कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा, मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था.

चाँद ने चाँदनी बिखेरी है, तारों ने आसमान को सजाया है, कहने को तुम्हें शुभ रात्रि, देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है।

रात है काफी, ठंडी हवा चल रही है, याद में आपकी किसी की मुस्कान खिल रही है, उनके सपनों की दुनिया में आप खो जाओ, आंखे करो बंद और आराम से सो जाओ।

चाँद भी तो देखो तुम्हें तांक रहा हैं, सितारे भी थमे थमे से लग रहे हैं, जरा मुस्कुरा दो हम सब के लिए, हम भी तो तुम्हें शुभ रात्रि कह रहें हैं।

1 2