मेरा किसी से रिश्ता दिल से नहीं टूटा कुछ भी टूटा जब भी टूटा तो बस मेरा लोगों पर से ऐतबार टुटा।

जिंदगी एक ऐसा रंग मंच है जहां किरदार को खुद नहीं पता होता कि आगे क्या होगा।

इंसान का अच्छा स्वभाव सौंर्दय के अभाव को पूरा कर देता है।

कोई बताएगा कि उन लोगों के लिए कौन सा मास्क मिलता है बाजार में जो वक्त के हिसाब से चेहरे बदलते है।

कोई जाना चाहता है तो उसी जाने दो जबरदस्ती के रिश्ते निभाए नहीं जाते।

न मेरा दिल बुरा था न उसमे कोई बुराई थी। सब नसीब का खेल है बस किस्मत में ही लिखी जुदाई थी।

दर्द को भी दर्द होने लगा आसमान भी मेरा दर्द सुन कर रोने लगा !

हर आइना टूटा सा लगता है अब तो हर सच भी हमे झूठा सा लगता है।

सारे ग़मों को मेरे हिस्से में सौपकर, वो कहकर गया- खुश रहना!

जिन्हें प्यार नहीं रुलाता उन्हें प्यार की निशानियाँ रुला देती है।

बचके रहना इश्क़ से ये तेरा सब कुछ मिटा देगा तू तो चीज़ क्या है ये तेरी राख तक को जला देगा।

बहुत मजबूत थे हम पर कहते हैं ना ” Mohabbat “अच्छे अच्छों को रुला देती है।

दो आँखों में दो ही आंसू , एक तेरे लिए और एक तेरे खातिर।

तुम्हारे रास्ते भी वही होंगे और नज़ारे भी वही होंगे पर हमसफ़र अब हम तुम्हारे नहीं होंगे।

गलती से भी कभी ये भूल मत करना बहुत जल्दी किसी को क़ुबूल मत करना !

कुछ रिश्ते भी कितने अजीब होते है क़रीब होने के बाद भी मीलों दूर होते है।

न जाने किस मोड़ पर ले आई है ये मोहब्बत मुझे, उसे प्यार भी नहीं किया जा सकता है, और भुलाया भी नहीं जा सकता।

खामोश हूँ तो सिर्फ तेरी ख़ुशी के लिए ये मत सोच की मेरा दिल नहीं दुखता।

वो मुझसे दूर रहकर अब खुश रहते है में उसे खुश रहने दू ये मेरा इश्क़ कहता है।

इन्सान की परेशानियों की सिर्फ दो ही वजह है, वह तक़दीर से ज्यादा चाहता है, और वक्त से पहले चाहता है!

हर रात बस यही ख्याल सताता है की क्या उसे भी मेरा ख्याल आता है।

मैं उसकी ज़िन्दगी में कही नहीं हूँ, पर एक समय मैं ही उसकी सारी ज़िन्दगी थी !

ऐसा भी क्या जीना मेरा की पल पल तड़पती हूँ में किसी के याद में किसी के इंतज़ार में रोज़ जीती और रोज़ मरती हूँ में |

वो हमारे लिए अपनी एक आदत भी नहीं बदल सके न जाने क्यों उनके लिए हमने अपनी जिंदगी बदल दी !

कोई बहुत परेशान है तेरे चुप हो जाने से हो सके तो बात कर किसी बहाने से !