मज़ा चख लेने दो उसे गैरों की मोहब्बत का भी इतनी चाहत के बाद जो मेरा ना हुआ वो औरों का क्या होगा। - Gam Bhari Shayari

मज़ा चख लेने दो उसे गैरों की मोहब्बत का भी इतनी चाहत के बाद जो मेरा ना हुआ वो औरों का क्या होगा।

Gam Bhari Shayari