उसने जी भर के मुझको चाहा था, फ़िर हुआ यूँ के उसका जी भर गया। - bewafa shayari

उसने जी भर के मुझको चाहा था, फ़िर हुआ यूँ के उसका जी भर गया।

bewafa shayari