कल न हम होंगे न कोई गिला होगा, सिर्फ सिमटी हुयी यादों का सिलसिला होगा, जो लम्हे हैं उन्हें हँसकर बिता ले दोस्त, जाने कल ज़िन्दगी का क्या फैसला होगा।
 - friendship shayari

कल न हम होंगे न कोई गिला होगा, सिर्फ सिमटी हुयी यादों का सिलसिला होगा, जो लम्हे हैं उन्हें हँसकर बिता ले दोस्त, जाने कल ज़िन्दगी का क्या फैसला होगा।

friendship shayari