वक़्त कहता है फिर ना आऊंगा  तेरी आँखों को अब ना रुलंगा अगर जीना है तो इस पल को जी ले शायद मैं कल तक ना रुक पाउँगा । - Waqt Shayari

वक़्त कहता है फिर ना आऊंगा तेरी आँखों को अब ना रुलंगा अगर जीना है तो इस पल को जी ले शायद मैं कल तक ना रुक पाउँगा ।

Waqt Shayari

Releted Post