तुम मिले तो यूँ लगा हर दुआ कुबूल हो गयी, काँच सी टूटी किस्मत मेरी हीरों का नूर हो गयी। - Kismat Shayari

तुम मिले तो यूँ लगा हर दुआ कुबूल हो गयी, काँच सी टूटी किस्मत मेरी हीरों का नूर हो गयी।

Kismat Shayari

Releted Post