Andhera Shayari, Status, and Images in Hindi

Best Andhera Status, Shayari, Messages, and Quotes With Images in Hindi.

Short andhera shayari

Short andhera shayari

अँधेरी रात को मैं रोज़-ए-इश्क़ समझा था, चराग़ तू ने जलाया तो दिल बुझा मेरा।

Andhera Shayari

Simple andhera shayari

Simple andhera shayari

सहर कैसी सहर का ज़िक्र भी इक जुर्म ठहरा है, अँधेरी रात का देखा है ये अंधेर भी मैं ने!

Andhera Shayari

Best andhera shayari

Best andhera shayari

लड़ाई जीतनी है गर अंधेरों से हवा की मार से बचना ज़रूरी है

Andhera Shayari

andhera shayari

andhera shayari

मेरे नशेमन में किसी तरह का अंधेरा नहीं है, उस ख़्वाब में न जी पाऊंगा जो मेरा नहीं है।

Andhera Shayari

andhera shayari

andhera shayari

अँधेरे में कमा कर रौशनी सबके लिए लाए दिया बन कर जले जब बाप तब त्योहार होता है

Andhera Shayari

andhera shayari

andhera shayari

चराग़-ए-तूर जलाओ बड़ा अँधेरा है, ज़रा नक़ाब उठाओ बड़ा अँधेरा है ।

Andhera Shayari

andhera shayari

andhera shayari

रात की बात तो और कुछ थी मगर ये सवेरे सवेरे अँधेरा घना

Andhera Shayari

andhera shayari

andhera shayari

रोज़ तारों को नुमाइश में ख़लल पड़ता है, चाँद पागल है अँधेरे में निकल पड़ता है ।

Andhera Shayari

Unique andhera shayari

Unique andhera shayari

मैं नज़र से पी रहा हूँ ये समाँ बदल न जाए, न झुकाओ तुम निगाहें कहीं रात ढल न जाए ।

Andhera Shayari

Amazing andhera shayari

Amazing andhera shayari

मंज़िल कि जुस्तजू में गुम हो रहा हमेशा किस अक्स को तलाशूँ अँधियार में यहाँ मैं!

Andhera Shayari

1 2 3

You May Also Like

पिलाने वाले कुछ तो पिला दिया होता, शराब कम थी तो पानी मिला दिया होता!

पिलाने वाले कुछ तो पिला दिया होता, शराब कम थी तो पानी मिला दिया होता!

Broken Heart Shayari

हमें आदत नहीं थी हर किसी पे फ़िदा होने की तुम में बात ही कुछ ऐसी थी खुद को संभाल न पाएं!

हमें आदत नहीं थी हर किसी पे फ़िदा होने की तुम में बात ही कुछ ऐसी थी खुद को संभाल न पाएं!

Couple Shayari

सीख कर गया है वो मोहब्बत मुझसे, जिस से भी करेगा बेमिसाल करेगा।

सीख कर गया है वो मोहब्बत मुझसे, जिस से भी करेगा बेमिसाल करेगा।

bewafa shayari

फूल कर ले निबाह काँटों से आदमी ही न आदमी से मिले

फूल कर ले निबाह काँटों से आदमी ही न आदमी से मिले

Aadmi Shayari

 कांटो सी चुभती है तन्हाई, अंगारों सी सुलगती है तन्हाई, कोई आ कर हम दोनों को ज़रा हँसा दे, मैं रोता हूँ तो रोने लगती है तन्हाई।

कांटो सी चुभती है तन्हाई, अंगारों सी सुलगती है तन्हाई, कोई आ कर हम दोनों को ज़रा हँसा दे, मैं रोता हूँ तो रोने लगती है तन्हाई।

dard bhari shayari

शब्द उतने ही बाहर निकालने चाहिए, जिन्हें वापिस भी लेना पड़े तो खुद को तकलीफ न हो।

शब्द उतने ही बाहर निकालने चाहिए, जिन्हें वापिस भी लेना पड़े तो खुद को तकलीफ न हो।

Shri Krishna status