क्या खूब मजबूरियां थी मेरी भी अपनी ख़ुशी को छोड़ दिया उसे खुश देखने के लिए।

सबसे अलग समझती थी तुमको लेकिन तुम मेरी समझ से अलग निकल गए।

हम जिसके लिए रोते है अक्सर वो लोग किसी और के होते है।

अजीब जुल्म करती है तेरी याद मुझ पर सो जाऊ तो जगा देती है जाग जाऊ तो रुला देती है।

मत करना इश्क इसमें बहुत झमेले है हंसते साथ है लेकिन रोते अकेले है।

औकात से ज्यादा मोहब्बत कर ली इसलिए बर्दाश्त से ज्यादा दर्द मिला !

धोखे का दर्द जब दुगना हो जाता है जब कोई अपना धोखा दे जाता है।

प्यार हुआ बस हो गया! फिर अचानक से खो गया।

नींद से जाग कर उठ बैठती हूँ, ख्वाब तुम्हारा मैं जब देख लेती हूँ।

जब भी टुटो अकेले में टूटना क्योंकि यह दुनिया तमाशा देखने में माहिर है।

मत चाहो किसी को इतना कि बाद में रोना पड़े क्योंकि ये दुनिया दिल से नहीं जरूरत से प्यार करती है।

सुक्रिया तुमने एक हंसते हुए चेहरे को खामोश कर दिया।

जीवन में सबसे खराब झूठ वह होते हैं, जो हम अपने आप से बोलते हैं।

बहुत रोओंगे तुम एक दिन मेरे लिए, और कहोगे एक पागल थी, जो पागल थी सिर्फ मेरे लिए।

खेल सारे खेलना मगर किसी की Feelings के साथ मत खेलना।

याद रहेगा ये दौर भी हमें उम्र भर के लिए कितना तरसा है जिंदगी ने एक शख्स के लिए।

जरूरत से ज्यादा इज्जत और वक्त देने से लोग बदल जाते हैं।

जहर से ज्यादा खतरनाक है ये मोहब्बत जरा सा कोई चखले तो मर मरके जीता है।

किसी ने क्या खूब कहा है मोहब्बत नहीं याद रुलाती है !

मुझ से पहले भी था कोई उसका, मेरे बाद भी कोई है उसका।