Gulzar Shayari, Status, and Images in Hindi

Best Gulzar Shayari, Status, Messages, and Quotes With Images in Hindi.

Short gulzar shayari

Short gulzar shayari

दिल तो रोज कहता है मुझे कोई सहारा चाहिए, फिर दिमाग कहता है क्या धोखा दोबारा चाहिए।

Gulzar Shayari

Simple gulzar shayari

Simple gulzar shayari

थोड़ा सा रफू कर के देखिए ना फिर से नई सी लगेगी, जिंदगी ही तो है..

Gulzar Shayari

Best gulzar shayari

Best gulzar shayari

कौन कहता है कि हम झूठ नही बोलते, एक बार खैरियत तो पूछ के देखिए..

Gulzar Shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

जब भी ये दिल उदास होता है, जाने कौन आस पास होता है, कोई वादा नहीं किया लेकिन क्यूँ तेरा इंतज़ार रहता है।

Gulzar Shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

तेरे बिना ज़िन्दगी से कोई शिकवा तो नहीं, तेरे बिना ज़िन्दगी भी लेकिन ज़िन्दगी तो नहीं।

Gulzar Shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

लगता है जिंदगी आज खफा है, चलिए छोड़िए कौनसी पहली दफा है !

Gulzar Shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

पूरे की ख्वाहिश में ये इंसान बहुत कुछ खोता है, भूल जात है कि आधा चाँद भी खूबसूरत होता है।

Gulzar Shayari

gulzar shayari

gulzar shayari

मेरी ख़ामोशी में सन्नाटा भी है और शौर भी है, तूने देखा ही नहीं, आँखों में कुछ और भी है।

Gulzar Shayari

Unique gulzar shayari

Unique gulzar shayari

दिल अब पहले सा मासूम नहीं रहा, पत्त्थर तो नहीं बना पर अब मोम भी नही रहा।

Gulzar Shayari

Amazing gulzar shayari

Amazing gulzar shayari

ना राज़ है “ज़िन्दगी”, ना नाराज़ है “ज़िन्दगी”, बस जो है, वो आज है ज़िन्दगी।

Gulzar Shayari

1 2 3 4

You May Also Like

दिल टुटना लाज़मी था इस शहर में, जहाँ हर कोई दिल में नफरत लिये चलता है।

दिल टुटना लाज़मी था इस शहर में, जहाँ हर कोई दिल में नफरत लिये चलता है।

Nafrat Shayari

उल्फ़त का है मज़ा कि 'असर' ग़म भी साथ हों, तारीकियाँ भी साथ रहें रौशनी के साथ ।

उल्फ़त का है मज़ा कि 'असर' ग़म भी साथ हों, तारीकियाँ भी साथ रहें रौशनी के साथ ।

Andhera Shayari

वक्त ने बदल दी, तेरे मेरे रिश्ते की परिभाषा, पहले दोस्ती, फिर अपनापन और अब अजनबी सा अहसास।

वक्त ने बदल दी, तेरे मेरे रिश्ते की परिभाषा, पहले दोस्ती, फिर अपनापन और अब अजनबी सा अहसास।

Waqt Shayari

समझने ही नहीं देती सियासत हम को सच्चाई,
कभी चेहरा नहीं मिलता कभी दर्पन नहीं मिलता !

समझने ही नहीं देती सियासत हम को सच्चाई, कभी चेहरा नहीं मिलता कभी दर्पन नहीं मिलता !

Shero Shayari

मेरे इजहार करने पर कुछ यूं कहा उसने बात करते करते दिलबर कहा उसने !

मेरे इजहार करने पर कुछ यूं कहा उसने बात करते करते दिलबर कहा उसने !

Sad Love Shayari

हम कुछ ऐसे तेरे दीदार में खो जाते हैं, जैसे बच्चे भरे बाज़ार में खो जाते हैं.

हम कुछ ऐसे तेरे दीदार में खो जाते हैं, जैसे बच्चे भरे बाज़ार में खो जाते हैं.

Deedar Shayari